Sher O Shayari SMS Messages

थके हारे परिन्दे जब बसेरे के लिये लौटे सलीक़ामन्द शाख़ों का लचक जाना ज़रूरी है
बहुत बेबाक आँखों में त'अल्लुक़ टिक नहीं पाता मुहब्बत में कशिश रखने को शर्माना ज़रूरी है
सलीक़ा ही नहीं शायद उसे महसूस करने का जो कहता है ख़ुदा है तो नज़र आना ज़रूरी है
मेरे होंठों पे अपनी प्यास रख दो और फिर सोचो कि इस के बाद भी दुनिया में कुछ पाना ज़रूरी
है,.,

HashTag : Sher O Shayari SMS Messages

समझते थे मगर फिर भी न रखी दूरियां हमने
चरागों को जलाने में जला ली उंगलियाँ हमने,..!! -
मुझ पर सितम ढा गयें मेरी ही गझल के शेर
पढ़ पढ़ के वो खो रहे है किसी और के खयाल में,.,!!!

HashTag : Sher O Shayari SMS Messages

चेहरों के लिए आईने क़ुर्बान किये हैं ,,.,
इस शौक में अपने बड़े नुकसान किये हैं ,.,
महफ़िल में मुझे गालियां देकर है बहोत खुश ,
जिस शक्श पे मैंने बड़े बड़े एहसान किये हैं ,.,!!

HashTag : Sher O Shayari SMS Messages

मोम के पास कभी आग को लाकर देखूँ , सोचता हूँ के तुझे हाथ लगा कर देखूँ
कभी चुपके से चला आऊँ तेरी खिलवत में, और तुझे तेरी निगाहों से बचा कर देखूँ
मैने देखा है ज़माने को शराबें पी कर, दम निकल जाये अगर होश में आकर देखूँ
दिल का मंदिर बड़ा वीरान नज़र आता है सोचता हूँ,
तेरी तस्वीर लगा कर देखूँ तेरे बारे में सुना ये है के तू सूरज है
मैं ज़रा देर तेरे साये में आ कर देखूँ याद आता है के
पहले भी कई बार यूं ही मैने सोचा था के मैं तुझको भुला कर देखूँ,.,!!!

HashTag : Sher O Shayari SMS Messages

मैंने फल देख के इंसानो को पहचाना है ,.,
जो बहुत मीठे हैं अंदर से सड़े होते हैं ,.,!!!
लबों पे मुस्कराहट और दिल में बेज़ारी निकलती है ,.,
बड़े लोगों में अक्सर ये बीमारी निकलती है ,.,!!! -

HashTag : Sher O Shayari SMS Messages

मियाँ मैं शेर हूँ ,शेरों की गुर्राहट नहीं जाती ,.,
मैं लहजा नर्म भी कर लूँ तो झुंझलाहट नहीं जाती
मैं एक दिन बेख्याली में कहीं सच बोल बैठा था ,.,
मैं कोशिश कर चुका हूँ ,मुंह की कड़वाहट नहीं जाती ,.,!!!

HashTag : Sher O Shayari SMS Messages

अँधेरे चारों तरफ़ सायं-सायं करने लगे
चिराग़ हाथ उठाकर दुआएँ करने लगे

तरक़्क़ी कर गए बीमारियों के सौदागर
ये सब मरीज़ हैं जो अब दवाएँ करने लगे

लहूलोहान पड़ा था ज़मीं पे इक सूरज
परिन्दे अपने परों से हवाएँ करने लगे

ज़मीं पे आ गए आँखों से टूट कर आँसू
बुरी ख़बर है फ़रिश्ते ख़ताएँ करने लगे

झुलस रहे हैं यहाँ छाँव बाँटने वाले
वो धूप है कि शजर इलतिजाएँ करने लगे

अजीब रंग था मजलिस का, ख़ूब महफ़िल थी
सफ़ेद पोश उठे काएँ-काएँ करने लगे,.,!!!

HashTag : Sher O Shayari SMS Messages

मै आ रहा हूँ , इश्क का सामान रख लेना.,.,
कमरे मे छुपा कर जहर का जाम रख लेना.,.,!!!!
अभी तो जवान हो तुम क्या नमाज क्या रोजा....?
अभी तो उम्र पड़ी है चलो शराब पीयें ,.,!!!

HashTag : Sher O Shayari SMS Messages

Page 7 of 9    First    Previous    5    6    7    8    9    Next    Last